नेताजी सुभाषचंद्र बोस जी के दिल को छू लेने वाले अनमोल विचार

0
137
नेताजी सुभाषचद्र बोस जी के दिल को छू लेने वाले अनमोल विचार
IMAGE BY THIRD PARTY नेताजी सुभाषचंद्र बोस

नेताजी सुभाषचंद्र बोस जी के दिल को छू लेने वाले अनमोल विचार

नेताजी सुभाषचंद्र बोस जी ने भारत देश की आजादी के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया और उनके जीवन संघर्ष में कई अनमोल विचार पैदा हुए जिन्हें हमें एक बार जरूर पढ़ना चाहिए।नेताजी सुभाषचद्र बोस जी के दिल को छू लेने वाले अनमोल विचार


नेताजी सुभाषचंद्र बोस जी के अनमोल और प्रेरणादायक विचार

    • हमारे अन्दर एक ही कामना होनी चाहिए। एक शहीद की मोत मरने की, ताकि भारत जी सके। ताकि आजादी का मार्ग शहीदों के खून से प्रशस्त हो।

    • जो फूलों के देख कर मचलते हैं, उन्हें काटें भी जल्दी लगते हैं।  

    • समझोतापरस्ती एक अपवित्र विचार हैं।

    • अपनी शक्ति पर भरोसा करों, उधार की शक्ति तुम्हारे लिए घातक है।

    • भारत में राष्ट्रवाद ने एक ऐसी शक्ति का संचार किया है जो नागरिकों के भीतर सदियों से सोई पड़ी थी।

    • यह हमारा कर्त्तव्य है कि हम अपनी आजादी का मूल्य, अपने खून से चुकाये।

    • हमें अपने बलिदान और परिश्रम से जो आजादी मिले, हममें उसकी रक्षा करने का सामर्थ्य होना चाहिये।

    • कष्टों का एक आंतरिक नैतिक मूल्य होता है।

    • मैं विपदाओं से नहीं डरता। संकट आने पर भी मैं भागूंगा नहीं। आगे बढ़कर कष्ट सहन करूंगा।

    • दूसरों को भली लगने वाली बाते करना मुझे नहीं आता। मैंने कभी लल्लों-चप्पों नहीं की हैं।

    • यदि मैं अपनी मंजिल तक नहीं पहुँच पाया तो यह जीवन व्यर्थ है। इसकी कोई सार्थकता नहीं।

    • सच्चे सैनिक को सैन्य और आध्यात्मिक, दोनों प्रक्षिशण की आवश्यक्ता होती हैं।

    • व्यर्थ में समय नष्ट करना मुझे अच्छा नहीं लगता।

    • संघर्ष ना हो, किसी भय का सामना ना करना पढ़े तो जीवन का आधा मजा ही खत्म हो जाता है।

    • बचपन और जवानी में पवित्रता व् सयंम जरूरी है।

    • मुझे जीवन में एक निश्चित लक्ष्य पूरा करना है। मेरा जन्म ही उसके लिए हुआ है। मैं नैतिक विचारों की धारा में बहना नहीं चाहता हूँ।

    • हमारी राह कितनी ही भयानक और कष्टप्रद हो हमें आगे ही बदना है। कामयाबी दूर भले हो सकती है, लेकिन मिलेगी जरूर।

    • इसे लेकर मुझे कोई संदेह नहीं कि हमारे देश की प्रमुख समस्याएं गरीबी, अशिक्षा, अस्वास्थ्य का निदान, कुशल उत्पादन और समाजवादी वितरण से ही संभव है।

    • मैं यह नहीं जानता हूँ कि जीवित कौन बचेंगें, किन्तु यह जानता हूँ कि जीत हमारी ही होगीI

    • तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हे आजादी दूंगा।

    • सबसे बड़ा अपराध अन्याय सहना और समझौता करना है।

    • निर्भीक बनों, संघर्ष जारी रखों। आजादी करीब ही है।  

    • स्वतंत्रता ही मेरे जीवन का अंत है और मेरी दृस्टि से वह एक अमूल्य वस्तु है। जैसे आक्सीजन फेफड़ों के लिए आवश्यक है, उसी प्रकार स्वतंत्रता भी मानव आत्मा के लिए आवश्यक है।  

    • आज इस बात की आवश्यकता नहीं है कि विश्वविद्यालय किताबी कीड़े, स्वर्ण-पदक प्राप्तकर्ता और क्लर्कों की भीड़ पैदा करें। आज आवश्यकता इस बात की है कि विश्वविद्यालय ऐसे चरित्रवान नागरिक पैदा करें, जो स्वयं महानता अर्जित करके राष्ट्रीय जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में देश का यश बढ़ाये।

    • संसार क्षणभंगुर है और इसकी कोई भी भौतिक वस्तु स्थाई नहीं है। किन्तु विचार, आदर्श और स्वप्न कभी नष्ट नहीं होते।

    • ब्रिटिश शासन इस गलतफहमी में है कि उनके साम्राज्य का सूरज कभी अस्त नहीं होगा, किन्तु वह दिन अब दूर नहीं, जब उनका ऐसा सोचना मानसिक दिवालियापन सिद्ध होगा।     

    • मेरे देशवासियों, आजादी प्राप्त करने का एक ही तरीका है कि हम देश के भीतर और बाहर, दोनों ओर से, आजादी के लिए लड़े।   

    • मित्रों, अब वह ऐतिहासिक क्षण आ गया है, जब हमने अपने रक्त से स्वतंत्रता के लिए सशस्त्र संघर्ष करने के निर्णय का इतिहास लिखना है। यह मार्ग सुविधा का नहीं, नगें पाँव अंगारों पर चलने का है। इस मार्ग में पग- पग पर कठिनाईयां और दुश्वारियां आपकी परीक्षा लेने के लिए खड़ी है।

    • यह आजाद हिन्द फ़ौज भारत को स्वतन्त्र ही नहीं करेगी,  मेरे सैनिक साथियों! हमारा नारा होगा, ‘दिल्ली चलो! दिल्ली चलो !

    • सैनिक होने के नाते आपने तीन आदर्श हमेशा अपने सामने रखने है – विश्वासपात्रता, कर्त्तव्य और बलिदान वरन स्वतन्त्र भारत की भावी सेना का निर्माण भी इसी के द्वारा होगा।                          

    • मैं आपको विशवास दिलाता हूँ कि सदैव आपके साथ रहुंगाँ। अन्धकार और प्रकाश में, दुःख और सुख में और जय-पराजय में।



  • यह कोई बात नही है कि भारत की आजादी देखने के लिए हममें से कौन ज़िंदा रहेगा।

  • हमारे लिए इतना ही काफी है कि भारत आजाद होगा और उसे आजाद कराने के लिए हम सब अपना सर्वस्व समर्पित कर देंगें।

  • मत भूलों की गुलाम रहना दुनियां का सबसे बड़ा अभिशाप है। याद रखो कि अन्याय और अनीति के समक्ष घुटने टेकना सबसे बड़ा पाप है।

  •  जब इस नश्वर जीवन का अंत निश्चित है तो क्यों ना आजादी के लिए संघर्ष करते हुए, मृत्यु को गले लगाया जाये।

  •  याद रखो – मेरे प्यारे देशवासियों कि आजादी यदि प्राणों की कीमत पर भी मिलती है तो वह सस्ती है।“


    नेताजी के जीवन के विषय में विस्तार से पढ़ने के लिए यहाँ CLICK जरूर करें नेताजी सुभाषचंद्र बोस की जीवनी अन्याय सहना जिनको गवारां नहीं

    इन महापुरुषों के बारे मे पढ़ने के लिए click करें                                                              भारतीय क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद

    काकोरी के शहीद क्रांतिकारी

    भारत सच्चे सपूत लाल बहादुर शास्त्री जी

    कम उम्र में शहीद हुए क्रांतिकारी खुदीराम बोस

    नेताजी सुभाषचद्र बोस जी के दिल को छू लेने वाले अनमोल विचार

    नेताजी सुभाषचंद्र बोस जी आप हमारे प्रेरणास्रोत हैं और हमेशा रहेंगें। कोई भी आपकी जगह नहीं ले सकता है.

    यदि हम अपनी ओर से समाज के लिए थोड़ा भी सहयोग किसी ना किसी रूप में दें, तो यह हम सबकी ओर से आपके प्रति  सच्ची श्रद्धा होगी।  

    आपसे विनती है कि आप इस पोस्ट को जरूर share, comment और सब्सक्राइब करें, ताकि सभी को हमारे देश के महान नहीं महानतम पुरुष के विषय में पता चल सकें।  

    आपका शुभचिंतक

    प्रकाश चंद जोशी
    hamaarijeet.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here