ISO CERTIFICATION & IMPORTANCE OF ISO STD

2
118
ISO CERTIFICATION & IMPORTANCE OF ISO STD
ISO CERTIFICATION & IMPORTANCE OF ISO STD

ISO CERTIFICATION & IMPORTANCE OF ISO STD

ISO के बारे में जानने से पहले आपकों इसकी HISTORY को जानने की ज़रुरत होगी और इसके साथ-साथ हम जानेंगें कि हमें ISO की आवश्यक्ता क्यों पड़ी ? ISO CERTIFICATION & IMPORTANCE OF ISO STD

जिस प्रकार से हम किसी society या संगठन की शुरुआत करते हैं तो हमें कुछ नियम या मानक बनाने पड़ते हैं ताकि सभी members व company उन नियमों को मानते हुए अपना कार्य करें

और किसी के बीच कोई मतभेद ना हो, उसी प्रकार 1920 के दशक में यूरोप में इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल और civil उद्योग सेक्टर की कंपनियों के बीच कार्य के आदान-प्रदान के लिए कुछ नियम या मानक की आवश्यक्ता पड़ने लगी,

तो कुछ members ने मिलकर एक मानक यानि standard बनाने के लिए एक संगठन जो आज ISO के नाम से जाना जाता है की शुरूआत की ताकि कम्पनी का कार्य बिना किसी रुकावट के एक system के माध्यम से चलता रहें जिसे quality management system कहतें हैं।


संगठन यांनी organization

जो आज ISO के रूप में जाना जाता है, 1926 में राष्ट्रीय माननीकरण संघों (ISA) के अंतर्राष्ट्रीय संघ के रूप में शुरू हुआ। इस संगठन ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग पर भारी ध्यान केंद्रित किया। इसे 1942 में दूसरे विश्व युद्ध के दौरान बंद कर दिया गया था लेकिन 1946 में वर्तमान नाम, ISO के तहत फिर से संगठित किया गया।

मानकीकरण (Standardization) के लिए अंतर्राष्ट्रीय संगठन (ISO) 1946 में शुरू हुआ जब 25 देशों के प्रतिनिधियों ने लंदन में सिविल इंजीनियर्स संस्थान में मुलाकात की और अंतरराष्ट्रीय मानकों के अंतर्राष्ट्रीय समन्वय और एकीकरण की सुविधा के लिए एक नया अंतर्राष्ट्रीय संगठन बनाने का फैसला किया।

ISO GOVERNING BODY MEETING
ISO GOVERNING BODY MEETING

23 फरवरी 1947 से organization विश्वव्यापी स्वामित्व, औद्योगिक और वाणिज्यिक मानकों को बढ़ावा देता है। तब से, लगभग 22268 (अंतर्राष्ट्रीय मानक) International Standard प्रकाशित किए गये हैं जो Manufacturing and Technology  के लगभग सभी पहलुओं को कवर करते हैं।

Central Secretariat in Geneva, Switzerland
Central Secretariat in Geneva, Switzerland

मानकों (standard) के विकास की देखभाल के लिए आज 162 देशों और 784 technical committees और sub committees के सदस्य हैं।स्विट्ज़रलैंड के जिनेवा में ISO का केंद्रीय सचिवालय हैं जिसमें 135 से अधिक लोग regular work कर रहे हैं।

ISO CERTIFICATION & IMPORTANCE OF ISO STD

ISO नाम सुनकर ही आपके मन में एक सवाल आया होगा कि ISO क्या होता है और इसे कहाँ use करतें हैं?

जब आप किसी school, hospital, industry में जातें हैं तो आपसे कहा जाता है कि हमारा school, hospital, industry ISO  सर्टिफाइड है और इसके लिए वो आपको अपना certificate भी दिखाता है। लेकिन इसके बावजूद भी कई लोग समझ ही नहीं पातें कि ISO है क्या और कहाँ use होता हैं?

इसके लिए मैं आपको अपने ब्लॉग पोस्ट और मेरे Y tube विडियो के माध्यम से ISO के बारें में जानकारी दुंगा कि ISO certificate क्या है और आज के दौर में इसकी ज़रुरत क्या है ?  

 Y tube विडियो के लिए क्लिक करें ISO CERTIFICATION & ISO क्या है 

आपने देखा होगा कि जब छोटी-छोटी कम्पनी अपने product के survey के लिए घरों में जाती है तो लोगों से product के प्रचार के अलावा कहती है कि हमारा product ISO सर्टिफाइड है और जब उनसे इसके बारे में पूछा जाता है कि ISO certified का मतलब क्या है तो उनका कहना होता है कि हमारा center या कंपनी govt से सर्टिफाइड है, जोकि सरासर गलत जानकारी उनके द्वारा आपको दी जाती है।

ISO is a Independent non Government Organization, इसका Govt सेक्टर से कुछ भी लेना-देना नहीं है।       

इसलिए आप सबकों यह जानना ज़रूरी है कि ISO क्या है और यह कैसे काम करता है, ताकि जब भी कोई आपको गलत जानकारी दें तो आप उसका आंसर सही दे और कहा भी गया है कि “ज्ञान अर्जित करना है तो सच्चा ज्ञान अर्जित करों, चाहे वों आपके दुश्मन से ही क्यों ना मिलें” ।

कई लोगों को तो ISO की full form का भी नहीं पता हैं

ISO full form is ‘International Organization for Standardization’

हम ISO को सरल भाषा में समझने की कोशिश करेंगें कि ISO क्या है? ISO is quality management system

ISO LOGOS
ISO LOGOS

ISO एक quality management system (QMS) है, जो कंपनी, स्कूल, हॉस्पिटल आदि के system को manage करती है। quality management system की रुपरेखा, training, implementation आदि National Standard Bodies members द्वारा की जाती है। यह National Standard Bodies non Government Organization हैं। 2015 के अनुसार पुरे world में National Standard Bodies के 162 members हैं।  

Quality management system के तहत Quality Product को ensure कैसे करें ?   

जब हम किसी प्रोडक्ट पर जैसे Havells, Syska आदि पर ISO mark देखतें है तो कैसे sure होतें है कि यह product quality product ही है? या हम कैसे माने कि जिन्होंने ISO certificate लिया है, उनका प्रोडक्ट क्वालिटी प्रोडक्ट है।?

जैसे कि मैंने पहले आपको बताया था कि world में National Standard Bodies के 162 members हैं, जिनमें से किसी एक से हम ISO certificate लें सकतें है लेकिन


ISO certificate प्राप्त करने की भी एक प्रक्रिया है, जो निम्न हैं:-

1 इसके लिए पहले आपको email के माध्यम से member को सूचित करना होगा कि हमारी कंपनी, स्कूल, शॉप, हॉस्पिटल आदि ISO CERTIFICATE लेना चाहती है, आप हमें guide कर्रें।

2 एक उदाहरण के द्वारा में आपको थोड़ा detail में समझाता हूँ।

AUDIT
AUDIT

Member को कुछ जानकारी देने के बाद वह आपकी कंपनी में आएगी और Audit यानि survey करेगी कि आपका internal system किस प्रकार काम कर रहा है?

यानि कि raw material जिससे ले रहे हो उसका रिकॉर्ड maintain है या नहीं,

आपने material ख़रीदा है तो उसकी entry register या किसी document में है या नहीं,

जो माल ख़रीदा है उसकी quality check हो रही है या नहीं,

product customer की requirement के अनुसार ही बन रहा है या नहीं,

worker या स्टाफ member depute है या नहीं आदि ।

कहने का मतलब यह है कि certificate provider members, आपके प्रोडक्ट को नहीं बल्कि प्रोडक्ट बनाने के लिए कंपनी के अन्दर होने वाली सारी activities को check करेगी, चाहे वो store, marketing, purchasing, quality आदि क्यों ना हों और

यदि कोई कमी होगी तो वो company के improvement के लिए आपको guide करेगी और यह सारा वर्क document के साथ होगा ना कि verbally और इसके साथ – साथ वो कंपनी में training भी provide कराएगी।  

3 इसके बाद जब members द्वारा निकाले गये NC points (mistake points) पर काम किया जाएगा तो उस कार्य को एक बार फिर member द्वारा check किया जाएगा कि जो कमियां निकाली गई थी, वह एक standard leval तक पूरा हुआ है या नहीं,

यदि पूरा होगा तो कंपनी   ISO certificate issue करेगी और यदि नहीं तो उन्हें एक बार फिर से सुधार करने का मौक़ा दिया जाएगा। ISO CERTIFICATION ISO क्या है 

4 ISO certificate 3 वर्ष तक की अवधि के लये issue होगा और हर साल member द्वारा audit होगी और यदि member द्वारा की गई audit के points company द्वारा पुरे नहीं होंगें तो member कंपनी को एक अवसर और देगा और फिर भी इसके बावजूद सुधार नहीं हुआ तो कंपनी का ISO certificate रद्द हो जाएगा।

इसी से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि यदि हमारा internal system यानि कच्चे माल के in से लेकर अन्दर के प्रोसेस से product out तक का प्रोसेस एक system के according होगा तो वह प्रोडक्ट भी अच्छी quality में बनेगा । customer भी sure होगा कि उसका prodcut  उसकी requirement के अनुसार बन रहा है।   

ISO certificate provide करवाने वाली कई bodies हैं, लेकिन उनमें से best हैं DNV, TUV SUD आदि जिनकी मान्यता Maruti, TATA, HERO MOTO आदि द्वारा भी है।    

ISO CERTIFICATION & IMPORTANCE OF ISO STD


why iso certificate need

1 Meet customer requirements

customer की जो भी requirements होगी उसे पूरा किया जाना चाहिए, जैसे प्रोडक्ट की details, timely delivery of material, quality प्रोडक्ट provide कराना आदि ।        

2 Get more revenue and business from customer

कस्टमर से हम अधिक से अधिक business revenue यानि sale generate करा सकतें है और यह तब संभव हैं जब हम एक system के अंतर्गत कार्य करें।      

3 Improve company and product quality

बिना प्रोडक्ट quality के कुछ भी संभव नहीं हैं और यदि आपके प्रोडक्ट की quality सही नहीं होगी तो आप अपने business में बिल्कुल भी सफल नहीं हो सकते, इसलिए यह ध्यान जरूर रखें कि productivity के साथ-साथ quality का होना भी बहुत ही ज़रूरी है और प्रोडक्ट quality भी एक system के माध्यम के तहत develop होगी ।   

4 Increase customer satisfactions with your product and services

यदि आप अपने प्रोडक्ट को एक बेहतर quality, timely delivery of material, suitable price और सही feedback के साथ अपने कस्टमर को दोगे तो आपके प्रति कस्टमर का satisfactions लेवल भी बड़ेगा ।          

5 Describe, understand and communicate your company processes

यदि आप iso system को adopt करतें हैं तो आप बेहतर तरीके से अपने प्रोडक्ट को समझकर अन्य लोगों को भी communicate कर सकतें हैं।     

 6 Develop a professional culture and better employee moral

iso में हम समय-समय पर कंपनी में training provide कराते हैं, जिसमें कई तरह की training शामिल होती हैं जिससे कंपनी के worker का moral high होता हैं और यह ज़रूरी भी है क्योंकि company में worker के लिए कुछ ना कुछ नया होना चाहिए जिससे वो एक ही कार्य को करते समय बोरियत महसूस ना कर सकें।       

7 Improve the consistency of your operation

जब आप किसी product को बनाने के लिए ऑपरेशन यानि कार्य करते हो तो उस कार्य में कुछ ना कुछ सुधार करते रहना चाहिए और कहा भी गया है कि यदि हमने आगे तरक्की करनी है तो समय के साथ चलना होगा नहीं तो हम पीछे रह जायेंगें ।

8 Focus management and employees

कंपनी के worker और management staff का फोकस अपने aim के प्रति होना चाहिए जैसे कम्पनी की quality policy क्या है ? quality policy या अपने aim की ओर ध्यान देते हुए अपना कार्य करना चाहिए।

9 Improve efficiency, reduce waste, and save money

iso standard के अंतर्गत जब हम system develop करते हैं तो हम धीरे-धीरे कंपनी में होने वाली wastage को कम करते हैं जिससे कंपनी की saving होती है ।

10 Achieve International Quality Recognition 

जब कंपनी system के तहत लगातार कार्य करती है तो उसका परिणाम भी सही आने लगता है और company लोगों के बीच में famous होने लगती है।  

ISO CERTIFICATION & IMPORTANCE OF ISO STD


अंत में, मैं आपको एक जरूरी बात बताता हूँ जैसे कि मानों आपने ISO certificate लेकर अपने ऑफिस में टांग दिया और उन्होंने आपसे कम price लेकर आपको certificate दे दिया लेकिन आपको तो उसकी knowledge है ही नहीं और अब मान लों कि आप कहीं पर business मीटिंग के लिए गये और मीटिंग room में आप reputed कस्टमर के साथ बैठें हो जैसे Minda, Hero Moto, Honda आदि।

और उस मीटिंग room में उनकी ओर से चार या पाँच टीम members बैठें हैं जिसमें system, purchase, marketing, supplier development वालें शामिल हैं और उनमें से किसी ने आपसे system के तहत कुछ technical points पूछ लिए और आप उसका answer ना दे पायें तो आपको उस समय कैसा महसूस होगा, इसकी कल्पना भी जब आप अपने मन में करेंगें तो आप बार-बार अपने आप में insult महसूस करेंगें।

आगे आपसे पुछेंगें कि क्या आपकी कंपनी iso सर्टिफाइड है?

आप कहेंगें :हाँ

तो वह कहेंगें कि :क्या आपने certificate नाम के लिए लिया है या system के तहत काम भी करते हो ?

आप इसका जवाब भी नहीं दे सकोगे और  इसमें आपका ही नहीं बल्कि आपकी कंपनी का नाम भी खराब होगा ।      

अब आगे कस्टमर क्या सोचेगा कि जब इन्होने नाम का iso certificate लिया है तो हमें प्रोडक्ट भी quality के साथ नहीं दें पायेंगें और आपको business के लिए प्राथमिकता नहीं देंगें और इसी से आप अंदाजा लगा सकतें हैं कि iso certificate ही नहीं बल्कि उसकी training भी एक experience candidate या कंपनी से लेना ज़रूरी है।

यदि आप ज्यादा बड़ी-बड़ी कंपनी का चार्ज जो कि एक दिन का 8 से 15 हजार के बीच होता है देने के योग्य नहीं हैं तो आप कम्पनी में work किये हुए experience candidate से अपनी कंपनी में iso system develop करा सकते हैं।   

बड़े अफ़सोस की बात है कि बहुत सारे युवा 4 से 5 लाख खर्च करके B–Tech पास करने के बाद भी भटक रहें है और इसका सबसे बड़ा कारण quality शिक्षा का अभाव का होना और यही कंडीशन Diploma और ITI students के साथ भी है । इसी के देखतें हुए मैंने अपनी ओर से एक छोटा सा प्रयास किया है और    

यह मेरा सोभाग्य है की मेरे द्वारा trained किये हुए लगभग 40 B–Tech, Diploma या ITI पास students अलग-अलग तरह की automotive और automobile कंपनी में कार्य कर रहें हैं और अभी भी कई students और company मेरे साथ जुड़ी हुई है।

यदि आप चाहते हैं कि आपको quality management system के तहत training की need है या किसी भी B –Tech,  Diploma या ITI पास students को भी training की need है या इससे सम्बंधित कोई भी doubt हैं तो आप इस email id के द्वारा अपना message send करें। ISO CERTIFICATION & IMPORTANCE OF ISO STD

qmsdivyansh@gmail.com    

अगली विडियो में, मैं आपको ISO 9001:2008 व ISO 9001:2015 के अन्तर के बारें में बताऊंगा । आपसे आशा है कि आप मेरे इस विडियो को शेयर करें, subscribe और comment अवश्य करें ।   

आपका शुभचिंतक

प्रकाश चंद जोशी

hamaarijeet.com    

 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here